Posted by: Rajesh Shukla | September 8, 2010

न्यूज न बेचने की कसम के मायने


Truthout

Image via Wikipedia

पिछले चुनावों मे यह बडी चर्चा का विषय रहा कि न्यूजपेपर तथा न्यूज चैनलो नें एक एक मिनट तथा एक एक लाईन बेचे। हिन्दुस्तान के तो मुखपृष्ठ पर विज्ञापन को न्यूज बनाकर पेश किया गया था। जिसे रंगे हाथो पकडा गया और न्यूज कम्पनी को माफीनामा प्रकाशित करना पडना था।

कम्पटशीन तथा मुनाफाखोरी के इस दौर में कोई भी पीछे नही रहना चाहता। नैतिकता तो किसी प्रोफेशन मे नही रह गई है। हर न्यूज चैनल या न्यूज पेपर नैतिकता से साथ अनैतिकता भी लेकर चलता है जिसमे समय के साथ अनैतिकता ही नैतिकता बन जाती है।

कोई ऐसा न्यूज पेपर नही बच गया था जिसने अपनी अस्मिता को न बेचा हो। उसी बात की सफाई बिहार चुनाव से पहलें कई न्यूज पेपरों ने दी है कई ने अपनी आचार संहिता तथा विज्ञापन नियमों की घोषणा की है। यह हिन्दुस्तान नयूजपेपर की घोषणा है।

इन कार्पोरेट न्यूजपेपर और न्यूज  ऐजेन्सियों से बेहतर रोल तथा जनता की सेवा इस समय फ्री मीडिया कर रही है। alternet.org और truthout जैसी न्यूज की बेहतर निर्भय वेबसाईटों के समक्ष कार्पोरेट न्यूज के संस्थान फेल मार चुके हैं। सभी लोग आथेन्टिक विष्लेषण के लिये इन न्यूज वेबसाईटों के पास जाने लगे है। आल्टरनेट डाँट आर्ग जैसी न्यूज वेबसाईटो का तो अब अमेरिका जैसे देशो में एक जलवा है। न्यूज की दुकानदारी का समय कमोवेश खत्म है। इधर बीच जिस तेजी से इस क्षेत्र का विकास हुआ है वह आनेवाले दिनों में सब कुछ बदल देने वाला है।

खबरों के सन्दर्भ में, यहाँ तक कि सरकारों पर दबाव बनाने में भी इनका रोल दिन प्रतिदिन बढता जा रहा है। ये एक समानन्तर न्यूज और विष्लेषण का जगत बन चुके हैऔर  कमोवेश जनता ने इन्हें ही अपना  वास्तविक जगत मान रखा है और कार्पोरेट का संसार अब अलग थलग होता जा रहा है हाँ चूकी संसाधनों में वे ज्यादा  हैं इसलिये उनका थोडा प्रभाव ज्यादा है। ये  न्यूज की दो दुनिया  हैं कमोवेश सच और झूठ जैसे दो छोर जिसके एक छोर पर हमलोग हैं- सत्य के साथ-  सत्यमेव जयते। यह प्रकाशित आचार विचार यह सफाई-घोषणा इन न्यूजचैनलो के खत्म होते व्यापार की तरफ ही संकेत करता है। वैसे भी प्रिंट का जमाना कमोवेश लद चुका है और अब जो है बस एक ट्रेस भर रह जायेगा।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Categories

%d bloggers like this: